Rapunzel-story-in-hindi-writing

Rapunzel Story in Hindi Pdf / राजकुमारी की कहानी हिंदी में जरूर पढ़ें

Rapunzel Story in Hindi  एक नगर में एक पति – पत्नी रहते थे।  पति अपनी पत्नी से बहुत प्रेम करता था और उसकी हर ख्वाहिस को भरसक पूरी करता था।  पति का नाम अर्नाल्ड और पत्नी का नाम रोज़ी था।

 

 

 

पति – पत्नी के घर से कुछ दुरी पर एक सुनसान घर था।  वहाँ एक डायन रहती थी।  वह घर चारो तरफ से ऊँची चारदीवारी से कैद था। एक दिन की बात है रोज़ी अपने घर की छत पर टहल रही थी तभी उसे डायन के घर की चारदीवारी के खेत में सुन्दर फूल दिखे।  वह उन फूलों को देखकर मंत्रमुग्ध हो गयी।

 

 

 

राजकुमारी की हिंदी कहानी ( Rapunzel Story in Hindi Download )

 

 

 

 

जब उसका पति वापस आया तो उसने उससे कहा कि मुझे वह फूल बहुत ही पसंद है।  मुझे वह फूल बहुत ही पसंद है। मुझे वह चाहिए। उसके पति को सब कुछ पता था।  उसे पता था कि वहाँ डायन रहती है।  उसने थोड़ी आनाकानी की लेकिन इससे उसकी पत्नी बहुत दुखी हुई।

 

 

 

 

यह देखकर पति ने कहा, ” ठीक है।  मैं वह फूल जरूर लाऊंगा।  ” यह सुनकर पत्नी बहुत खुश हुई।  उसके बाद उसका पति चुपके से डायन के घर के चारदीवारी के पास गया और जल्द से उसे फांदकर वहाँ से फूल तोड़कर ले आया और डायन को इसकी खबर नहीं लगी।

 

 

 

Rapunzel Story in Hindi Reading

 

 

 

 

उसकी पत्नी को वह फूल  बहुत पसंद आया।  उसकी पत्नी ने फिर से फूलों की मांग की। उसके पति ने उसे समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वह नहीं मानी।

 

 

 

पति अपनी पत्नी को दुखी नहीं देख सकता था। इसलिए उसने फिर से उस जगह पर जाना सोचा।  एक बार फिर से दिवाल फांदकर उस डायन के खेत में घुसा और वहां से फूल लेकर जैसे ही मुड़ा  वहां डायन आ गई।

 

 

 

 

उसने कहा तुमने चोरी की है। तुम्हें शायद पता नहीं मैं कौन हूं ? लगता है तुम्हे डर नहीं लगता।  मैं तुम्हे खा जाउंगी। यह सुनकर वह आदमी बुरी तरह डर गया।

 

 

 

 

उसने डायन से माफी मांगी और कहा, ” मेरी पत्नी को यह फूल  बहुत पसंद है और इसीलिए मैं यह फूल लेकर जाना  चाहता था। मुझे माफ कर दो। ”

 

 

 

 

इसे भी जरूर पढ़ें  Princess Story in Hindi Written / राजकुमारी की रोमांचक कहानी हिंदी में

 

 

 

यह सुनकर डायन हंसी और बोली, ” ठीक है।  तुम्हें जितना फूल चाहिए तुम ले जा सकते हो , लेकिन मेरी एक शर्त है।  जब तुम्हें बच्चा होगा तो उसे मैं लेकर जाऊंगी और एक मां की तरह उसका पालन करूंगी और अगर तुम नहीं माने तो मैं तुम्हें मार डालूंगी।  ”

 

 

 

 

पति बेहद डर गया। उसने सोचा कि अगर उसकी मृत्यु होती है तो उसकी पत्नी अकेली पड़ जाएगी। इसलिए वह शर्त मान गया और उसने इस बारे में अपनी पत्नी से कुछ नहीं बताया क्योंकि वह अपनी पत्नी को दुखी नहीं देख सकता था।

 

 

 

 

समय बीता और उस उसकी पत्नी ने एक खूबसूरत बच्ची को जन्म दिया। जन्म देते ही वहां पर डायन आ गई। उसने पति से कहा कि तुम अपना वादा पूरा करो नहीं  तो सबको मार डालूंगी।

 

 

 

उसके बाद उसने अपनी पत्नी को सारी बात बताई और उसने बच्ची को डायन को दे दिया। पति – पत्नी दोनों बहुत दुखी थे और दुखी होकर वहां से चले गए।

 

 

 

उसके बाद डायन Rapunzel को लेकर चली गई और उसका लालन-पालन करने लगी। धीरे धीरे से  Rapunzel बड़ी हो गई। वह बहुत ही खूबसूरत थी और उसके लंबे सुनहरे बाल थे।

 

 

 

यह देखकर डायन बहुत ही चिंतित हो गयी।  उसने सोचा Rapunzel बड़ी हो गयी है इसलिए इसे आम लोगों से बचाकर रखना जरूरी है। यह सोचकर उसने रैपअंजेल को एक ऊंची मीनार में रख दिया।  उस मीनार में जाने का कोई रास्ता नहीं था। जब भी उसे Rapunzel के पास जाना रहता वह उस मीनार के पास आकर कहती, ”  रैपअंजेल रैपअंजेल अपने बाल नीचे करो। ”

 

 

 

 

उसके बाद Rapunzel अपने बाल नीचे करती और उसे पकड़ कर वह ऊपर चढ़ जाती है। एक  दिन की बात है एक युवा राजकुमार उसी रास्ते से जा रहा था तभी उसे एक मधुर आवाज सुनाई दी।

 

 

 

 

Rapunzel अपने अकेलेपन को दूर करने के लिए गाना गा रही थी।  गाने को सुनकर राजकुमार मंत्रमुग्ध हो गया और वह रैपअंजेल से मिलने की आशा लेकर उस मीनार के पास आया।

 

 

 

 

उसने देखा कि मीनार तक जाने के लिए कोई भी रास्ता नहीं है। वह बहुत ही निराश हुआ और वहां से चला गया। उसे अभी भी Rapunzel से मिलने का मन कर रहा था और इसलिए वह अब रोज  वहां पर आने लगा।

 

 

 

 

एक दिन वह छुपकर गाना सुन रहा था कि इतने में डायन आई और उसने कहा, ” रैपअंजेल रैपअंजेल अपने बाल नीचे करो ” जैसे ही रैपअंजेल ने अपने बाल नीचे किए वह  डायन  बाल को पकड़ कर ऊपर चली गई।

 

 

 

 

इसे भी जरूर पढ़ें  Cinderella Story in Hindi Written / सिंडरेला की कहानी हिंदी में

 

 

 

 

राजकुमार ययह देखकर बहुत खुश हुआ और डायन के वापस जाने के बाद राजकुमार ने भी ऐसे ही कहा और  Rapunzel ने अपने बाल नीचे किए और उसे पकड़ कर वह ऊपर चला गया।

 

 

 

 

राजकुमार को देखकर Rapunzel को बड़ा आश्चर्य हुआ।  उसने कभी भी मानव को नहीं देखा था। राजकुमार ने कहा, ” तुम बहुत ही सुन्दर हो और उतना ही मीठा जाती हो।  तुम्हारे गीत को सुनकर मैं यहां आया हूँ। ”

 

 

 

Rapunzel को राजकुमार बहुत पसंद आया और उसने  राजकुमार को  शादी का प्रस्ताव दिया। राजकुमार मान गया। तब राजकुमार ने कहा, ” लेकिन हम नीचे कैसे उतरेंगे।  ‘

 

 

इसपर Rapunzel ने कहा, ” अगली बार जब तुम मुझसे मिलने के लिए आओ तो अपने साथ रस्सी लेकर आना और उसी के सहारे हम नीचे आ  जाएंगे।  ” राजकुमार ने कहा ठीक है और उसके बाद वह वापस चला गया।

 

 

 

 

उसके बाद जब डायन आई तो रैपअंजेल ने उससे कहा, ” आप मेरे बालों के सहारे बहुत ही आराम से ऊपर आती है जबकि राजकुमार एक झटके में ही ऊपर मीनार  पर आ जाता है।  ”

 

 

 

यह सुनते ही डायन बहुत ही गुस्सा हो गई और  उसने कहा, ” मुझे तो लगा था कि मैंने तुम्हे  मानव से बचा कर रखा है लेकिन यहाँ  पर भी मानव आ गया और यह कहकर उसने गुस्से से रैपअंजेल के बाल काट दिए और उसे एक सुनसान रेगिस्तान में छोड़ दिया।

 

 

 

 

उसके बाद जब राजकुमार उस मीनार के पास आया और उसने आवाज़ लगाई Rapunzel Rapunzel . तब उसने Rapunzel के कटे हुए बाल नीचे गिराए और उसे पकड़कर राजकुमार  ऊपर आ गया।

 

 

 

लेकिन जब वह  ऊपर आया तो उसने देखा वहां रैपअंजेल नहीं थी बल्कि वहां पर डायन थी।  वह हैरान रह गया।  तब डायन ने कहा, ”   मैंने तुम्हारी  रैपअंजेल को बहुत दूर  भेज दिया है।  ”  यह सुनकर राजकुमार बहुत  ही दुखी हुआ और वह मीनार से कूद गया।

 

 

 

 

जब वह नीचे कूदा तो नीचे गिरा काँटा उसकी आँख में चला  गया और उसकी आंख की रोशनी चली गई।  वह अंधा हो गया। वह जंगल में इधर – उधर भटकने लगा।

 

 

 

 

कई महीनों तक भटकते हुए वह एक दिन  रेगिस्तान में पहुंचा जहां Rapunzel रहती थी।  तभी उसे एक मधुर गीत सुनाई दिया।  यह गीत सुनते ही उसने सोचा, ” यह तो रैपअंजेल की आवाज  है।  ”

 

 

 

वह उस तरफ आगे बढ़ने लगा।  थोड़ा और आगे पहुँचने पर Rapunzel ने  उसे देख लिया और उसे देखते ही Rapunzel राजकुमार के गले से लग गयी। उसके बाद रैपअंजेल की आंखों से आंसू बहने लगे और जैसे ही उसकी आंखों के आंसू राजकुमार के आंख पर गिरे राजकुमार के आँखों की रोशनी वापस आ गयी।

 

 

 

दोनों बहुत ही खुश हुए और उसके बाद राजकुमार Rapunzel के साथ अपने राज्य आ गया और वहाँ दोनों का विवाह हो गया और दोनों ख़ुशी से रहने लगे।

 

 

 

मित्रों यह Rapunzel Story in Hindi Language आपको कैसी लगी जरूर बताएं और Rapunzel Story in Hindi Disney की तरह की दूसरी हिंदी कहानी नीचे की लिंक पर पढ़ें और इसे  शेयर भी जरूर करें।

 

 

 

 

1- Cinderella real Story in Hindi

 

2- Cinderella ki Kahani in Hindi Pdf / सिंडरेला की नयी कहानी हिंदी में

 

3- Cinderella Story in Hindi Written / सिंडरेला की कहानी हिंदी में

 

4- Pari Ki Kahani in Hindi 

 

Leave a Comment